Monday, May 3, 2021

देश छोड़कर भागे covishield बनाने वाले पूनावाला

 जबकि देश में corona के केस 4 लाख तक रोज मिल रहे है और लोग वैक्सीन से आस लगाए बैठे है तब ये खबर और भी डरा देने वाली है की देसी की सबसे बड़ी vaccine निर्माता कंपनी का मालिक देश छोड़ कर परिवार सहित विदेश चला गया है । वही देश वैक्सीन की कमी से भी जूझ रहा है। एक मई से 18+ आयु के अपर के लोगो को भी वैक्सीन लगनी थी मगर देश के लगभग सभी राज्य वैक्सीन की किल्लत से जूझ रहे है या तो उनके पास वैक्सीन नहीं है या कम स्टॉक होने के कारण 18+ को वैक्सीन नहीं दी जा रही है।

हाल ही में उन्होंने एक इंटरव्यू दिया है जिसमे सिरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के पूनावाला ने द टाइम्स  को दिए एक इंटरव्यू में कहा कि उन पर सप्लाई का बहुत दबाव है । corona की दूसरी लहर का सामना कर रहे भारत में वैक्सीन की मांग को पूरा करने को लेकर उन पर काफी दवाब है हिंदुस्तान टाइम्स के मुताबिक Y  कैटेगरी की सिक्योरिटी मिलने के बाद ही उन्होंने पहली बार कोई इंटरव्यू दिया है द टाइम्स के इंटरव्यू ने बताया कि उनके पास भारत के सबसे प्रभावशाली लोगों के फोन आ रहे हैं जो उनसे  covishield  यानी उनकी वैक्सीन की डिमांड कर रहे हैं जो कि Oxford और AstraZeneca ने कोविड-19 वैक्सीन बनाई है जिसका उत्पादन के सिरम इंस्टीट्यूट आफ इंडिया कर रही है। पूनावाला  ने कहा कि उन पर यह प्रेशर इस कदर बढ़ गया है कि उन्होंने अपनी पत्नी और बच्चे समेत भारत छोड़ दिया है ,और लंदन चले गए हैं उन्होंने द टाइम से बात करते हुए कहा कि मैं यहां यानी कि लंदन में लंबे वक्त तक रहूंगा क्योंकि मैं वापस जाना नहीं चाहता उस स्थिति में नहीं लौटना चाहता, सब कुछ मेरे कंधों पर आ गया है और मैं यह अकेले नहीं कर सकता मैं उस स्थिति में नहीं जाना चाहता जब आप अपना काम कर रहे हैं और किसी X , Y या Z को सप्लाई  नहीं नहीं दे पा रहे हैं । लेकिन आप अंदाजा नहीं लगा सकते कि वह अब क्या करने वाले हैं । उन्होंने कहा कि लोगों की अपेक्षा और आकांक्षाएं वाकई अभूतपूर्व है ,सबको लगता है कि उन्हें वैक्सीन मिलनी ही चाहिए । लेकिन वह यह नहीं समझ रहे हैं कि उनसे पहले किसी और को वैक्सीन क्यों मिलनी चाहिए अपने इंटरव्यू में उन्होंने इस तरफ भी इशारा किया कि उन पर लंदन शिफ्ट होना इस बात से भी जुड़ा है कि उनका बिजनेस प्लान अब भारत के बाहर भी वैक्सीन का निर्माण करना है ।


जब उनसे पूछा गया कि भारत के बाहर प्रोडक्शन होगा तो उसमें ब्रिटेन भी शामिल होगा?

 तो उन्होंने कहा कि अगले कुछ दिनों में एक घोषणा होने वाली है । अखबार के मुताबिक जब जनवरी 2021 में Oxford और  AstraZeneca वैक्सिंग अप्रूव हुई थी तब तक सिरम इंस्टीट्यूट आफ इंडिया ने आठ सौ मिलियन अमेरिकन डॉलर लगा कर अपनी सालाना कैपेसिटी को 1.5 बिलियन डोस से बढ़ाकर 2.5 बिलियन डोस कर लिया था और अपने भंडार को 50 मिलियन डोस कर लिया था । कंपनी ने ब्रिटेन समेत 68 देशों को एक्सपोर्ट करना शुरू कर दिया था जबकि भारत में केस बढ़ रहे थे और हाल ही के कुछ हफ्तों में तो हालात काफी खराब हो गए हैं। पूनावाला ने कहा कि हम हर संभव मदद जुटाने की कोशिश कर रहे हैं मुझे नहीं लगता कि भगवान भी अनुमान लगा सकते हैं कि इतना भ्रम होने वाला है।


 वैक्सीन से मुनाफा कमाने को लेकर किए गए सवाल पर उन्होंने कहा कि यह आरोप पूरी तरह गलत है covishield अभी भी इस ग्रह पर सबसे सस्ती वैक्सीन है दाम बढ़ने के बाद भी उन्होंने कहा कि हम अपनी ओर से बेहतर करने की कोशिश कर रहे हैं बिना मुनाफाखोरी किए। इंतजार करूंगा कि इतिहास इस पर न्याय करेगा मुझे हमेशा भारत के प्रति अपनी जिम्मेदारी का एहसास रहा है, और दुनिया के प्रति भी क्योंकि हम vaccine बनाते हैं। 


0 comments:

Post a Comment