Wednesday, May 19, 2021

(Mucormycosis) Black fungus पर शिवराज सरकार ने दीया ये निर्देश।

 प्रदेश में बढ़ते ब्लैक फंगस के केसो को देखते हुए प्रदेश के मुखिया ने कल शाम ये निर्देश दिए।

सीएम श्री शिवराज सिंह चौहान ने निर्देश दिया है कि ब्लैक फंगस 'म्यूकॉरमाइकोसिस' के उपचार संबंधी व्यवस्थाओं के लिये डेडिकेटेड टॉस्क फोर्स बनाई जाये, जिसमें स्वास्थ्य मंत्री, चिकित्सा शिक्षा मंत्री, संबंधित विभागों के ACS/PS, ENT विशेषज्ञ डॉ. एस.पी. दुबे, डॉ. लोकेन्द्र दवे रहेंगे। 




श्री चौहान ने कहा कि टास्क फोर्स तुरंत कार्य करना प्रारंभ कर दे। प्रदेश में ब्लैक फंगस की प्राथमिक अवस्था में ही पहचान कर हर मरीज का उपचार करे। इस कार्य को जन-आंदोलन का रूप दिया जाए तथा हर जिले में इसकी जाँच की व्यवस्था हो। इसमें निजी चिकित्सकों का भी पूरा सहयोग लिया जाए।


मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में वर्तमान में 5 मेडिकल कॉलेज इंदौर, भोपाल, ग्वालियर, जबलपुर तथा रीवा में इसका नि:शुल्क उपचार किया जा रहा है। उन्होंने निर्देश दिए कि इसके उपचार के लिए निजी अस्पताल भी चिन्हित किए जाएँ, जहाँ व्यवस्थाएँ संभव हों।


सीएम श्री चौहान ने कहा कि ब्लैक फंगस का इलाज अत्यंत महंगा है। अत: प्रदेश में इसके नि:शुल्क इलाज की व्यवस्था सुनिश्चित की जाएगी। ब्लैक फंगस के इलाज में लगने वाले एम्फोटेरिसिन-बी इंजेक्शन शासकीय चिकित्सा केन्द्रों के अलावा निजी अस्पतालों को भी उपलब्धता अनुसार प्रदान किए जाएंगे।


प्रदेश में ढाई हजार एम्फोटेरिसिन इंजेक्शन प्राप्त हो गए हैं तथा 10 हजार इंजेक्शन शीघ्र ही मॉयलान कम्पनी के प्रदेश को प्राप्त हो जायेंगे। स्वास्थ्य आयुक्त श्री आकाश त्रिपाठी ने बताया कि वर्तमान में प्रदेश में ब्लैक फंगस के 573 प्रकरण 5 मेडिकल कॉलेजों में उपचाररत हैं।


0 comments:

Post a Comment