Wednesday, May 19, 2021

चीनी वैज्ञानिकों का नया कारनामा , ऐसा करने वाला तीसरा देश।

 जहां कोरोना काल में पूरी दुनिया करो ना महामारी से जूझ रही है वहीं चीन में इस बड़े कारनामे को अंजाम दिया है चीन ने अपना पहला स्पेसक्राफ्ट मंगल की सतह पर उतार दिया है जिसका नाम "चुरोंग" है ,जो मंगल ग्रह की उत्तरी क्षेत्र की जानकारी पृथ्वी तक भेजेगा। चीन इस कारनामे को करने में पहली बार सफल हुआ है । जबकि दुनिया की बात करें तो इससे पहले दो और ऐसे देश है जिन्होंने पहले भी यह कारनामा किया है । अमेरिका ने 1976 में एयरक्राफ्ट को मंगल की सतह पर उतारा था। इसके बाद से अब तक वह 9 बार मंगल पर सफल लैंडिंग कर चुका है। इससे पहले 1971 में सोवियत यूनियन में ऐसा किया था लेकिन उनका यह अभियान पूरा तरह सफल नहीं हुआ था। क्योंकि उनके एयरक्राफ्ट में टच डाउन करते ही तकनीकी खराबी आ गई थी और उसने वहां से सूचनाएं भेजना बंद कर दिया था। समाचार के मुताबिक एयरक्राफ्ट मंगल ग्रह पर यूटोपिया प्लेनीशिया पर अपने खोज अभियान की शुरुआत करेगा और जानकारी वहां से धरती पर भेजेगा । "यूटोपिया प्लेनीशिया" मंगल ग्रह के उत्तरी गोलार्ध पर स्थित एक विशाल भू-भाग है। चीन के राष्ट्रपति ने भी इस सफल एंडिंग की पुष्टि की और देशवासियों को इस की बधाई दी ।


"चुरोंग" चीनी भाषा का शब्द है जिसका मतलब होता है "आग का देवता" बीजिंग के मुताबिक यह 15 मई की सुबह 7:18 पर मंगल की सतह पर लैंड हुआ। भारतीय समय के अनुसार 4:48 सुबह यह कारनामा चीन ने किया चीनी एयरक्राफ्ट ने 17 मिनट के अंदर अपने सोलर पैनल्स को समेटा और फिर वहां से पृथ्वी की तरफ संदेश भेजा। धरती से मंगल की दूरी 32 करोड़ किलोमीटर है । यदि कोई स्पेस क्राफ्ट  वहां से यहां तक कोई संदेश भेजना चाहता है तो उसे ऐसा करने में 18 मिनट का समय लगता है । इसलिए से उसे वहां लैंडिंग की पूरी प्रक्रिया खुद ही करनी थी। क्योंकि 18 मिनट देरी से पहुंचने वाले संदेश से यह संभव नहीं हो सकता था कि उसे यहां से संचालित किया जा सके । इसलिए उसे पहले से ही है इस क्षमता लैस किया गया था कि वह यह सारी प्रक्रिया को खुद से ही कर सके।


ऑर्बिटर से अलग होकर मंगल की वायुमंडल में प्रवेश करने के दौरान लैंडिंग तक इसकी गति को नियंत्रित करने के लिए इसमें एक पैराशूट का भी इस्तेमाल किया गया था, जिसने इसकी लैंडकरने में सहायता की। लैंडिंग तय जगह पर हो सके यह बड़ी चुनौती होती है। लेकिन ऐसा करने में चीनी आएगा में सफलता प्राप्त की।


0 comments:

Post a Comment