Sunday, May 9, 2021

पाकिस्तान की पहली हिंदू असिस्टेंट कमिश्नर - सना रामचंद्र

 भारत के पड़ोसी देश पाकिस्तान में पहली बार ऐसा हुआ है कि जब कोई हिंदू लड़की असिस्टेंट कमिश्नर बने हो। सना रामचंद्र ने यह कर दिखाया है। पेशे से सना रामचंद्र MBBS डॉक्टर भी है।


पाकिस्तान के सिंध प्रांत में रहने वाली सुना चंद्रा ने पाकिस्तान की ए एस परीक्षा को पास करते हुए पाकिस्तान में पहली बार किसी हिंदू लड़की के तौर पर असिस्टेंट कमिश्नर की पोस्ट को हासिल किया है।

 सना रामचंद ने कहा कि मैं बेहद खुश हूं लेकिन हैरान नहीं हूं मुझे बचपन से ही कामयाबी की ललक है और मैं इसकी आदी हो चुकी है।


पड़ोसी देश पाकिस्तान में पहली बार एक हिंदू लड़की असिस्टेंट कमिश्नर बनी है उनका नाम समय चंद्र है उन्हें यह मुकाम हासिल करने के लिए सेंट्रल सुपीरियर सर्विस (CSS) पास करनी पड़ी इसके बाद उनका चयन पाकिस्तान प्रशासनिक सेवा (PAS) में हुआ। यह पाकिस्तान की सबसे बड़ी प्रशासनिक सेवा परीक्षा है ना पैसे से एमबीबीएस डॉक्टर हैं

सी एस एस के लिखित परीक्षा में 18553 कैंडीडेट्स शामिल हुए इनमें से 221 वाक्य स्थानीय मीडिया को दिए इंटरव्यू में कहा मैं बेहद खुश हूं लेकिन है या नहीं मुझे बचपन से ही कामयाबी की ललक है और मैं इसकी आदी हो चुकी हूं मैं अपने स्कूल का लेजा FCPS की परीक्षा में भी टॉप कर चुकी हूं।


सना सर्जन भी बन जाएंगे:-


सना सिंध के शिकारपुर जिले की रहने वाली हैं उन्होंने सिंध प्रांत के चंद का मेडिकल कॉलेज से mbbs किया है इंस्टीट्यूट आफ यूरोलॉजी एण्ड ट्रांसपेरेंट से  fcps की पढ़ाई कर रहे हैं वे जल्द ही सर्जन बनने वाली हैं ।

 

पाकिस्तान हमेशा से ही अलगाववाद,कट्टर विचार धारा वाला देश रहा है। जहा लड़कियों को न तो पढ़ाया जाता है और उन्हें आगे बढ़ने के अवसर तो कम ही मिलते हैं,उसमे से वो पाकिस्तान में अल्पसंख्यक भी है ।जहा पाकिस्तान में हिंदू अपने अस्तित्व से जूझ रहे है आए दिन वहा से खबरे आती रहती है की कट्टर धार्मिक भीड़ ने किसी मंदिर को तोड़ा गया या किसी हिंदू परिवार को धर्म परिवर्तन कराया गया,किसी हिंदू लड़की का अपहरण  कर लिया गया ।ऐसे में ये खबर सुकून भरी है ।



0 comments:

Post a Comment